Tags

, , , , , ,

kaamini

मादक गात मनोहर आनन, बंकिम लंक लगे हद प्यारी |

पूनम चंद छटा अंग राजत, कुंतल सावन की घट भारी ||

लोचन बाण अचूक चलावत, लागत सीधे आय हिया री |

डोलत आसन से मन साधक,चंचल है चित वृत्ति हमारी ||

photo

उम्मेद देवल

Advertisements