Tags

, , ,

अंजाम

किसी को दीवाना,  किसे नाशाद दिखता हूँ |

मैं तो अश्कों से उल्फतअंजाम लिखता हूँ ||

बचाते हैं क्यों सब दामन मुझसे ज़माने वाले ,

मैं तो अपनी आँखों में बरसात लिए फिरता हूँ ||

photo

उम्मेद देवल

Advertisements