Tags

, , , ,

आँसू जो सुधि कर बहे, पिव की केलि-विनोद |
कुछ नभ जा तारक बने, कुछ सीपी की गोद ||

आँसूं

photo

उम्मेद देवल

Advertisements