Tags

, , , , , ,

il_fullxfull.761359258_ktgg

जुस्तजू न अब कोई,न कोई मलाल है |
कर रही है जिंदगी, खुद से ही सवाल है ||
जानते हैं बखूबी,लौट तुम न आओगी |
बेवफ़ा पर आज भी , तेरा ही ख़याल है ||
रोशनी के काफ़िले, रहगुज़र अब नहीं |
अँधेरों में भी मगर, तेरा अक्शे जमाल है ||
ख़ूने जिगर कोई करे, होती कहाँ सज़ा |
क़ातिल मेरा देखिये, आज भी बहाल है ||
दिल के ज़ख्म अब, सूरत तेरी बन गए |
दर्द भी देते मगर, करते भी खुशहाल है ||

photo

उम्मेद देवल

 

 

Advertisements