Tags

, , , , , , ,

i_am_alone_without_you_wallpaper_for_boys-1

आज फ़िर तन्हाईयों में , बात हुई तुम से |

फ़िर उन्हीं लम्हों में, मुलाक़ात हुई तुम से ||

दीदारे हसरत में , थी कब से ये सूनी हुई |

आँखों में आज मगर, बरसात हुई तुम से ||

मुद्दत से अंधेरे थे , दिल पर काबिज़ हुये |

पा यादों की आहट, रोशन रात हुई तुम से ||

मुकम्मल ना हुई , है  यह रंज तो  मुझको |

कुछ ही सही मगर, रंगीं हयात हुई तुम से ||

रह जाते अनजान हम, गम औ’ इन्तजार से |

होती क्या बेकरारियाँ, मालूमात हुई तुम से ||

उम्मेद देवल

उम्मेद देवल

Advertisements