Tags

, , , , , ,

couple love sad love alone emotional missing u wallpapers (10)

ज़िन्दगी की रहगुज़र में, अब अँधेरे भरपूर हैं |

वो रोशनी के कारवाँ, चले गये नज़र से दूर हैं ||

क़त्ल के इल्ज़ाम कितने ,खंज़रों के सिर लगे |

क़ातिल अदाए हुश्न तो, आज भी मेरे हुज़ूर है ||

चर्चे जिनके गली-गली, जुबां -जुबां पे नाम था |

ज़ालिम शबाब ढल गया, अब ना वो मशहूर हैं ||

नज़र जिधर घुमाईये, देखिये दीवारें उठती हुई |

फ़ासले थे लाज़मी, यहाँ हरेक शख्स मगरूर है ||

शाख भी नई चाह में , गिराती है पुरानी पत्तियां |

खुदगर्जी कायनात का, लगता पहला दस्तूर है ||

उम्मेद देवल

उम्मेद देवल

Advertisements