Tags

, , , , , ,

12038242_485355338292918_577095800610387986_n

अनुपम, मनहर छवि युगल, देख थके ना नैन |

नटवर, राधा मम ह्रदय , आप बसो दिन- रैन ||

चित हरती, भरती सहज, भक्त ह्रदय अनुराग |

मन  भ्रमर  चाहत  सदा , आनन पुष्प पराग ||

रवि  देखे  तम ना रहे , चहुँ  दिस  में आलोक |

दरस किये पावन युगल , रहे ना जग के शोक ||

उर  मेरे  बसिए  सदा , राधा , नटवर  आप |

जहाँ आप ,न वहाँ रहे , जग  के  तीनहूँ  ताप ||

हीरा, कंचन , प्राण ,तन , न्यौछावर इस रूप |

नैनन मुझ  बसिए सदा , सकल चराचर भूप ||

उम्मेद देवल

उम्मेद देवल

Advertisements