Tags

, , , ,

download

खर्च ना होता है कछु, उल्टे है कुछ आय |

प्रीत मिले हर प्राण से, मीत बोल मुसकाय ||

नैन, बैन निर्मल रहे , शीतल रहे सुभाय |

आनन आभा ओपती, मीत बोल मुसकाय ||

चैन, चाव चित में रहे, भाव मधुर उर मांय |

रसना रस हरदम रहे, मीत बोल मुसकाय ||

क्रोध रहे घर खोजता, कलह ठाँव ना पाय |

बैरी ना, भ्राता सभी , मीत बोल मुसकाय ||

आरोग्य, आनंद मिले, जग साथी बन जाय |

देर फेर किस बात की, मीत बोल मुसकाय ||

उम्मेद देवल

उम्मेद देवल

Advertisements