Tags

, , , , , ,

tumblr_ngleyveA7r1ru322to1_1280

गंगा, गीता, गौ, गायत्री, गोविन्द से बढकर सुयश शाली |

ज्ञान सुधा सागर गुरुवर हो, घट जीवन तुम बिन खाली ||

साँस, आस, विश्वास तुम्ही, पथ प्रदाता भाग्य विधाता हो |

जननी ने जन्म दिया, पाला, पर तुम तो जीवन त्राता हो ||

पूर्ण शशि शीतल सुखकर हो, घिरती ना घोर निशा काली |

गंगा, गीता, गौ, गायत्री, गोविन्द से बढकर सुयश शाली ||

ना ऊँच- नीच ना छोटा -बड़ा, रखते सब पर समभाव सदा |

ज्ञानागर तुम हो सिन्धु क्षमा, देते हो हटा तम का पर्दा ||

इस सुरभित जीवन उपवन के, दक्ष, सजग तुम ही माली |

गंगा, गीता, गौ, गायत्री, गोविन्द से बढकर सुयश शाली ||

हर जन्म निछावर तुम पे करूँ, उपकार चुका ना पाऊँगा |

रब माफ़ करे या ना भी करे, गुण पहले तुम्हरे गाऊँगा ||

गुरुदेव अभय मैं जग में सदा, तुम करते जो हो रखवाली |

गंगा, गीता, गौ, गायत्री, गोविन्द से बढकर सुयश शाली ||

उम्मेद देवल

उम्मेद देवल

Advertisements