Tags

, , , , , ,

2014_1img24_Jan_2014_PTI1_24_2014_000054B-960x620

राष्ट्र प्रेम की निर्मल सरिता, जन जन के मन बहने दो |

मत अपने नारे बुलंद करो, हमें जय भारत ही कहने दो ||

क्षेत्र, धर्म, जाति, भाषा सब का, अपना निज स्थान यहाँ , 

कमतर, श्रेष्ठ क्यों साबित करते, सम सब को रहने दो |

मत अपने नारे बुलंद करो, हमें जय भारत ही कहने दो ||

हम संग सदा से रहते आये, तुम भेद बीज क्यूँ बोते हो ,

सुख जब हमने मिल बाँटा, तो पीर भी साझा सहने दो |

मत अपने नारे बुलंद करो, हमें जय भारत ही कहने दो ||

ये वतन हमारा, पहचान हमारी, जन्म-भूमि ये जननी है ,

मत और नई पहचान बनाओ, इसकी संतान ही रहने दो |

मत अपने नारे बुलंद करो, हमें जय भारत ही कहने दो ||

उम्मेद देवल

उम्मेद देवल

Advertisements