Tags

, , , , , ,

fly-bird-photography-nikon-ds1

हर पल को आज दिए जा, शब्दों को आवाज़ दिए जा |

सारा गगन तो तेरा है, बस पंखों को परवाज़ दिए जा ||

अवसादों को पस्त किए जा, जीवन हाला मस्त पिए जा |

जग वालों को तूँ तो अपने, जीने के अंदाज़ दिए जा ||

बाधाओं को मात दिए जा, मजलूमों का साथ दिए जा |

भूखे नंगों के सिर ऊपर, तूँ तो अब है ताज दिए जा ||

मौका अपने हाथ लिए जा, दिन के संग रात लिए जा |

साथी की दरकार नहीं है, बस अपने आगाज़ दिए जा ||

पीड़ित की तूँ पीर पिए जा, हमदर्दी और धीर दिए जा |

उस सूने मन आँगन को, नित नूतन तूँ साज दिए जा ||

शूल के बदले फूल दिए जा, अरमां संग उसूल दिए जा |

और नहीं बस गीता के से, तूँ तो जग में काज किए जा ||

सारा गगन तो तेरा है, बस पंखों को परवाज़ दिए जा |

पंखों को परवाज़ दिए जा, बस पंखों को परवाज़ दिए जा ||

उम्मेद देवल

उम्मेद देवल

Advertisements