Tags

, , , , , ,

heart and mind

समय चक्र का हिस्सा हूँ मैं, अंश अविनाशी, अमर नहीं हूँ |

संत नहीं हूँ, शूर नहीं हूँ,  पर मैं कायर और क्रूर नहीं हूँ |

स्वाभिमान का पोषक हूँ, पर मिथ्या मद में चूर नहीं हूँ ||

नहीं पाश में बंधा हुआ हूँ, पर बंधन से भी दूर नहीं हूँ |

है राह अनेकों बाधाएँ, पर उनके आगे  मजबूर नहीं हूँ ||

संग्राम प्रतिक्षण जीवन मेरा, पर मैं तो कोई समर नहीं हूँ |

————————– अंश अविनाशी, अमर नहीं हूँ ||

वाणीधारी, वाचाल नहीं हूँ, उलझनग्रस्त, सवाल नहीं हूँ |

व्यथित वेदना तो करती है, पर मैं बेबस, बेहाल नहीं हूँ ||

नहीं अकेला, पर हूँ एकाकी, चलता हूँ, पर चाल नहीं हूँ |

सरल चित्त है, उर भोला, पर बहला दें, वो बाल नहीं हूँ ||

नज़रें तो मैं भी रखता हूँ, पर लग जाऊं वो नज़र नहीं हूँ |

————————– अंश अविनाशी, अमर नहीं हूँ ||

जग में रह, जगवाला नहीं हूँ, मस्त मगर, मतवाला नहीं हूँ |

बहते रहते भाव सदा उर, पर बहकावे में बहनेवाला नहीं हूँ ||

माना पर्वत सी हस्ती नहीं, पर धक्के से ढहनेवाला नहीं हूँ |

सहनशक्ति है सहचर मेरी, पर अनुचित सह्नेवाला नहीं हूँ ||

रस मेरा मनभावन है, पर मैं तो रस लोलुप भ्रमर नहीं हूँ  |

—————————– अंश अविनाशी, अमर नहीं हूँ ||

उम्मेद देवल

उम्मेद देवल

Advertisements