Tags

, , , , , ,

8589130493271-love-sad-wallpaper-hd

अरमानों का धागा टूट गया, चाहत के मोती बिखर गए |

हर और अँधेरा आता नज़र, हम तो चलकर जिधर गए ||

———————————- चाहत के मोती बिखर गए

ज़न्नत तो नहीं मांगी हमने, था माँगा केवल साथ तेरा |

फ़िर रब की हुई क्यूँ रुसवाई, हम रहे यहाँ वो उधर गए ||

———————————- चाहत के मोती बिखर गए

सबसे तो सुनी थी बात यही, कि प्यार ख़ुदा को प्यारा है |

हमने इबादत की दिल से, फ़िर क्यूँ जग वाले बिफ़र गए ||

———————————- चाहत के मोती बिखर गए

अब यादों के सहारे जीना है, ज़ख्मों को उमर भर सीना है |

नहीं फूल रहे इन राहों में,  अब काँटों के पौधे पसर गए ||

———————————- चाहत के मोती बिखर गए

सपनों के महल सब चूर हुए, हसरत की बगिया उजड़ गई |

अब तो ना साहिल कश्ती को, मझधार में लेकर भंवर गए ||

———————————- चाहत के मोती बिखर गए

उम्मेद देवल

उम्मेद देवल

Advertisements