Tags

, , , , , ,

52160_Radha-Krishna-ISKCON-Desire-Tree-Devotee-Network_1024x768

मुख फेरि, रिसाई के राधेजू, आनन पट ओट लगावत है |

करनी न कछु बतिया तुम से, हाथ से यह समझावत है ||

चित ब्रजराज अति विचलित, बन दीन निहोरे खावत हैं |

जाको मनावे लोक सबै, वही राधे को आज मनावत हैं ||

उम्मेद देवल

उम्मेद देवल

Advertisements