Tags

, , , , , ,

100-Handpainted-famous-painting-reproduction-oil-on-canvas-high-quality-font-b-jesus-b-font-christ

तूफानों पर सर रख सोऊँ, मैं लहरों का प्रतिगामी हूँ |

अपना साहस कैसे खोऊँ ? मैं लहरों का प्रतिगामी हूँ ||

विद्युत् ने चमक भयंकर छोड़ी, घोर घटा ने नाद किया,

भीरू बैठ घरों में दुबके,विपदा में ईश्वर याद किया |

मैं क्यों इनके जैसा होऊँ ? मैं लहरों का प्रतिगामी हूँ |

अपना साहस कैसे खोऊँ ? मैं लहरों का प्रतिगामी हूँ ||

नभ से होड़ लगाती लहरें,सागर ने हुंकार भरी,

प्रलय आशंकित धरा मौन, सिमटी,ठिठकी सी ठहरी |

मैं क्यों ना इससे टकराऊँ ? मैं लहरों का प्रतिगामी हूँ |

अपना साहस कैसे खोऊ ? मैं लहरों का प्रतिगामी हूँ ||

तिनके से तरु उड़ाने की,प्रचण्ड पवन ने ठानी है,

पर इन झंझावातों से कब?हार मनुज ने मानी है |

नव सृजन के बीज मैं बोऊँ, मैं लहरों का प्रतिगामी हूँ |

अपना साहस कैसे खोऊ ? मैं लहरों का प्रतिगामी हूँ ||

उम्मेद देवल

उम्मेद देवल

Advertisements